भव्य कुम्भ दिव्य कुम्भ 2019

  • News

युगो-युगो से ये जो कुम्भ की परम्परा है, वह भारत की ज्ञान परम्पराओ की एक महत्त्वपूर्ण कड़ी है। मत सम्प्रदाय विचार अनेक रहे है और अनेक है, सबको जोडने वाली और सबको आशीर्वाद देने वाली गंगा मैया रही है। व भारत की एकता के सूत्र गंगा जी और त्रिवेणी संगम है।
जो लोग विश्व के अद्भूत मानव एकता का रहस्य जानना चाहते हैं,वो कुम्भ का अध्यन करे और कुम्भ के ज्ञान सार को ग्रहण करे तो विश्व की सभी समस्याओ का भी समाधान निकल जायेगा।

श्री योगी आदित्य नाथ जी की सरकार, केंद्र मे मोदी जी की सरकार के सहयोग से जो कुम्भ की तैयारी प्रयागराज नामकरण करने से लेकर सडको का विस्तार और 22 करोड लोगो के आवागमन,आवासीय आवशयकता की पूर्ति,बहुत सुविधापूर्वक संगम मे स्नान करते हुये गंगा जी के आशीर्वाद प्राप्त करने हेतू जो व्यवस्थाए खडी की है वास्तव मे अद्भूत और अचंभित करने वाली है।एवं गंगा जी का जल पहले की तुलना मे सचमे बहुत स्वच्छ है और इसको देख कर महसूस किया असम्भव नही सब कुछ सम्भव है,आगे जल और स्वच्छ किया जा सकता है,ये संकल्प लेने मे कोई दिक्कत नही आती है। और कही भी जाये तो इस प्रकार की अद्भूत व्यव्स्थाओ के बारे मे राज्य व केंद्र सरकार की प्रशंसा सुनने को मिलती है, तो जो विश्व भर से हिन्दू लोग आये है इस बार कुम्भ मे स्नान करने कुम्भ का कुन्ज प्राप्त करने के लिए वह सब लोग सरकार को आशीर्वाद देते हुये जा रहे है ऐसा देख रहा हूँ,और इस पार्टी का राष्ट्रिय महामंत्री होने का गर्व मेहसूस होता है जब अपनी सरकारे ऐसा काम करती हो।

Leave a Reply